Uncategorized

तुलसी से करे चंद दिनों में खून की कमी को दूर, गुणों में चुकंदर को भी देती हैं मात…

तुलसी से करे चंद दिनों में खून की कमी को दूर, गुणों में चुकंदर को भी देती हैं मात...

शरीर में खून की कमी कई रोगों को निमंत्रण देती है। व्यक्ति के शरीर में हीमोग्लोबीन की कमी उसके खानपान में बरती लापरवाही के अलावा शरीर में फोलिक एसिड, आयरन और विटामिन-बी12 की कमी होने की वजह से भी होती है। शरीर में खून की कमी होने पर व्यक्ति हमेशा थका हुआ महसूस करता है जिससे उसकी कार्यक्षमता भी प्रभावित होती है। भारत में बढ़ते बच्चों, स्तनपान कराने वाली महिलाओं में एनीमिया का खतरा ज्यादा देखा जाता है। अगर आप भी इस समस्या से परेशान हैं तो आपको बता दें इसका आसान सा उपाय आपके घर में ही मौजूद है।

अगर आप सोच रहे हैं कि हम यहां आपको खून बढ़ाने के लिए चुकंदर खाने की सलाह देने वाले हैं तो आप गलत हैं। जी हां ज्यादातर लोग शरीर में हीमोग्लोबीन की मात्रा बढ़ाने के लिए चुकंदर का सेवन करते हैं लेकिन आज हम आपको बताएंगे कि चुकंदर के अलावा एक चीज ऐसी और भी है जो तेजी से आपके शरीर में खून की कमी को पूरा करती है। आइए जानते हैं आखिर क्या है वो चीज।

ये हरी पत्तियां किसी और चीज की नहीं बल्कि हर हिंदू घर में पूजी जाने वाली तुलसी की हैं। जी हां, बहुत कम ही लोग यह जानते हैं कि तुलसी के पत्तों का नियमित सेवन करने से शरीर में खून की कमी को दूर किया जा सकता है। तुलसी के पत्तों का रोजाना सेवन करने से व्यक्ति को कई रोगों से छुटकारा मिलता है। शरीर में हीमोग्लोबिन का स्तर कम होने पर रोजाना सुबह खाली पेट तुलसी की 2 से 3 पत्तियां चबाने से काफी फर्क पड़ता है। यदि आप चाय के शौकीन हैं तो भी हीमोग्लोबिन अच्छा करने के लिए तुलसी की पत्तियों को चाय में डालकर पीने से लाभ मिलता है।

खून की कमी दूर करने के लिए तुलसी के पत्तों का पेस्ट बनाकर उसे शहद के साथ मिलाकर खाने से भी काफी चंद दिनों में ही हीमोग्लोबीन के स्तर में फर्क दिखने लगता है। तुलसी के पत्तों में आयरन के तत्‍व अधिक मात्रा में मौजूद होने से यह खून में हीमोग्लोबीन का निर्माण व लाल रक्तकणों की सक्रियता को बढ़ाता है। आप शायद ही इस बात को जानते होंगे कि तुलसी के पत्तों में चुकंदर से ज्‍यादा लौह तत्‍व मौजूद होता है।

Disclaimer-
इस जानकारी की सटीकता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी हमारीनहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top