Health

शारीरिक ताकत के लिए राजा- महाराजा करते थे इन गुप्त नुस्खो का प्रयोग,आप भी आजमाएं

loading...

आजकल के जमाने में लोग जड़ी बूटियों का इस्तेमाल करना लगभग छोड़ दिए हैं, लेकिन पहले ऐसा नहीं था। पहले के राजा-महाराजा कई-कई रानियां रखते थे और साथ ही अपने विशाल राज्य को भी संभालते थे.

कई-कई दिनों तक युद्ध भी लड़ते थे लेकिन उनके पास इतनी उर्जा आखिर कैसे आती थी? कि वह इतना युद्ध लड़ते थे और अपने राज्य को संभालते भी थे। आज मैं आपको आयुर्वेद के उस नुस्खे से परिचित कराऊंगी जिनको प्राचीन काल से राजा-महाराजा अपनी सारी ऊर्जा के लिए उपयोग करते थे।

प्राचीन समय में राजाओं के यहां राजवैद्य हुआ करते थे जो राजाओं के लिए जड़ी बूटियां रसायन तथा धातु में के माध्यम से अचूक नुस्खे बनाते थे। इन दवाओं में ताकत बढ़ाने वाले रसायन होते थे जिनको खाने के बाद राजा-महाराजा लंबे समय तक जवान और ताकतवर रहते थे। जिससे वह अपने राज्य को संभाल सकें।

आज मैं आपको आयुर्वेदिक औषधियों के बारे में बताऊंगी जिनका प्रयोग कर आप भी अपनी क्षमता को बढ़ा सकते हैं।अश्वगंधा अश्वगंधा के आधा चम्मच पाउडर को आप सोने से पहले गुनगुने दूध के साथ ले इसको लेने से आपकी शारीरिक कमजोरी तो दूर हो जाएगी साथ ही थकान भी दूर होगी और आप में रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ेगी।

शिलाजीत शिलाजीत को चावल के दाने के बराबर लेकर आप उसको गाय के घी या फिर शहद के साथ प्रयोग करें. इसे आप में भरपूर ऊर्जा रहेगी तथा आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ेगी और इसका प्रयोग करने से आपका बुढ़ापा भी आपसे दूर रहेगा।

सफेद मूसली सफेद मूसली एक ऐसी औषधि होती है जिसको एक चम्मच पाउडर को आप मिश्री तथा दूध के साथ सुबह-शाम लें, इस प्रयोग से आप ही कमजोरी दूर होती है साथ ही आपकी शारीरिक ऊर्जा भी बढ़ती है आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

इस प्रकार से अगर आप इन आयुर्वेदिक औषधियों का उपयोग अपने जीवन में करते हैं तो आपकी शारीरिक क्षमता भी बढ़ेगी आप सदा जवान भी रहेंगे और राजा महाराजाओं की तरह लंबे समय तक जवान और ताकतवर भी दिखेंगे।

loading...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top