Health

एलोवेरा के औषधीय गुण…

एलोवेरा के औषधीय गुण

अपने गुणों के कारण इस पौधे ने ब्यूटी और हेल्थ दोनों क्षेत्रों में अपनी एक अलग ही पहचान बना कर रखी हुई है। जी हाँ यहाँ बात हो रहे है एलोवेरा की को किसी परिचय की। जी बिलकुल सही समझा एलोवेरा किसी भी पहचान की जरूरत नहीं है।अगर चाहते है स्वस्थ्य शरीर तो एलोवेरा जूस पी सकते हैं वही अगर चाहिए खूबसूरत और बेदाग त्वचा तो एलोवेरा जेल लगा सकते हैं।

ये छोटा सा हरे रंग का पौधा अपनी पत्तियों में पानी इकट्ठा रखता है जिससे ये मांसल और मोटी हो जाती हैं। जैसे ही हम एलोवेरा की पत्ती को छीलेंते है तो हमे ताजा एलोवेरा जेल मिलता है। एलोवेरा के पौधे से जेल के अलावा पत्ती से भी एक प्रकार का रस निकलता है जिसे एलो लेटेक्स कहते हैं। इस लेटेक्स में भी काफी मात्रा में पोषक तत्व होते हैं। जो हमारे शरीर और बालों के लिए काफी फायदेमंद होता है।

चाहे कैसी भी समस्या हो, सन बर्न, त्वचा का बेजान होना, कटना या छीलना, रूखे- उलझे से बाल हों कोई बात नहीं एलोवेरा है न हर तरह की समस्या का इलाज।यह छोटा सा पौधा बड़े काम की चीज है त्वचा और बालों की समस्या से निजात दिलाता है। इससे एक्ने और धब्बों से भी असरकारक रूप से छुटकारा मिलता है। जैसे यदि हम एलोवेरा जेल के साथ नींबू की कुछ बूंदें मिला कर प्रतिदिन रात में लगाकर सोएं तो दाग-धब्बे कम दिखाई देंगे और त्वचा चमकदार बनेगी।

एलोवेरा के कुछ उपयोग :-

  • यदि शरीर में सूजन हो गया है तो इसकी मदद से कम कर सकते है – बस हमे एलोवेरा जूस का इस्तेमाल करना होता है। शरीर में सूजन का कारण फ्री रेडिकल्स की वजह से हुआ ऑक्सीडेटिव डैमेज होता है। एलोवेरा में ऐंटीऑक्सिडेंट्स पर्याप्त मात्रा में होते हैं। ये ऐंटीऑक्सिडेंट फ्री रेडिकल्स से होने वाले डैमेज को रोकते हैं। इसके लिए हमे कोई खास मेहनत भी नहीं करनी होगी बस आसानी से मिलने वाले एलोवेरा ड्रिंक को पीना हैं। चाहे तो एलोवेरा के कैप्स्यूल का भी यूज कर सकते हैं। एलोवेरा का जूस अर्थराइटिस और रुमेटिज्म में भी काफी फायदेमंद होता है।
  • यदि आप डाइजेशन की समस्या से परेशान है तो वहां भी यह काफी मदद करता है – बस रोजाना एलोवेरा जूस पीना है। रोजाना इसके इस्तेमाल से डाइजेशन अच्छा होता है और अल्सर से भी राहत मिलती है। पर यहाँ ध्यान देने योग्य बात है की एलोवेरा जूस के साइड इफेक्ट्स भी होते है इससे बचने के लिए पहले डॉक्टर से जरूर बात कर लें।
  • एलोवेरा को इम्यूटी बूस्टर के तौर पर भी जाना जाता है। एलोवेरा की वजह से सेल्स में नाइट्रिक ऑक्साइड और साइटोकाइन्स बनने लगते हैं जिससे इम्यून सिस्टम को आवश्यक बूस्ट मिलता है।
  • बात जब ओरल हेल्थ की आती है तो कई स्टडीज से यह बात साबित हो चुकी है कि एलोवेरा टूथपेस्ट की तरह प्रभावशाली होता है। यह मुंह के घावों को ठीक करता है और मसूढ़ों को मॉइश्चराइज रखता है। इससे मसूढ़ों की सूजन भी कम होती है। ऐंटी-बैक्टीरियल गुणों से कैविटी पैदा करने वाले कीटाणु दूर रहते हैं।
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top